On Page SEO Kya Hai – और कैसे करे 2020

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सब,

दोस्तों आज में आपको बताऊगा की On Page SEO Kya Hai और On Page SEO Kaise Karte Hai. अगर आपका कोई Blog हैं तो आपको पता ही होगा की ऑन पेज seo ब्लॉग पोस्ट के लिए कितना जरुरी हैं. क्युकी इसकी वजह से ही कोई भी लेख Google Rank करवाता है. अगर आपको नहीं पता है What is On Page SEO kya hota hai in hindi निस्चित रहिए में आपको पूरी जानकारी दुगा.

अगर आप आपने Website या Blog को google Search Engine में First पेज पे रैंक करना चाहते हो. और Google से ऑरगैने ट्रैफिक आपने Blog पर लेना चाहते है तो इसमें सबसे ज़्यदा भुमिका जो होती हैं वो SEO (Search Engine Optimization) की होती है. अगर आपका SEO अच्छा है तो आप आपने किसी भी आर्टिकल को Google में रैंक करवा सकते हैं.

इसलिए में आपको suggest करुगा की आप Blogging शुरू करने से पहले ही search engines optimization (SEO) को अच्छे से सीखे और उसके बाद अपनी Blog banaye. अगर आपको नहीं पता हैं. Blog kaise banaye तो मैने इसके ऊपर लेख लिखा हुआ हैं उसको आप जरूर पढ़े उससे आपको आपने Blog शुरू करने में अच्छी Information मिलेगी. जिसे आप अपनी blog जरनी Free Blog से शुरू कर सकते हैं.

जो नये ब्लॉगर होते है वह हमेशा SEO, On-page Optimization, Off-Page Optimization, Search Engines, Search Rank और दूसरे SEO factors के लिए काफी ज़्यदा confuse रहते है. क्युकी Search Engine Optimization को कर पाना इतना आसान नहीं हैं.

हर किसी के लिए जो बड़े बड़े ब्लॉगर है उनको और सभी को काफी प्रॉब्लम होती है ज्यादातर जो नए ब्लॉगर होते है. उनको नहीं पता होता है Keyword को आपने article में कैसे लगाए या ये कहना भी गलत नहीं होगा की उनको On Page SEO in hindi के बारे में पूरी जानकारी नहीं होती हैं.

इस लेख में हम जानेगे On Page SEO Kya hai Hindi me और On Page SEO Kaise Karte Hai एक – एक Point को में आपको Step – Step पूरी जानकारी दुगा. अगर आप इसको सीखना चाहते हैं तो इस लेख को पुरे धयानपूर्वक पढ़े जिसे आपको ज़्यदा जानकारी मिल साके.

On page SEO Optimization Kya hai in hindi

On-page SEO in hindi किसी भी ब्लॉग पोस्ट को Google Search Engine में रैंक कराने के लिए सबसे जायद important factor में से एक है. अगर आपने आर्टिकल का On-page काफ़ी अच्छे से किया है तो आपकी पोस्ट को Search Engine आसानी से रैंक करा देगा. अगर आपने ब्लॉग पर गूगल से ट्रैफिक चाहते है तो आपको On-page बढ़िया तरीके से करना होगा.

On-page SEO Optimization करने के लिए आपको काफी मेहनत करनी होगी. क्युकी जितनी ज़्यदा आप अपनी Blog / Website का SEO करने में मेहनत ओर आपने time दोगे तो आपको इसको Result काफी अच्छा मिलेगा.

“किसीने सही ही कहा है 

जितना कमाओ गे उतना ही खाओ गे”

में आपको एक बात बताना चाहुगा जो बहुत जरुरी हैं हर नई ब्लॉगर के लिए Google किसी भी नई वेबसाइट या ब्लॉग को इतना जल्दी रैंकिंग नहीं करता है. क्युकी गूगल को आपकी वेबसाइट के बारे में कुछ भी जानकारी नहीं है की आप किस तरह का कंटेंट प्रोवाइड कराते है.

जब आपकी वेबसाइट थोड़ी पुरानी हो जाएगी और आपने वेबसाइट का SEO सही से किया होगा तो Google आटोमेटिक वेबसाइट को रैंक करा देगा.

क्युकी “पर्तिक्षा का फल हमेसा मीठा होता हैं”

जब हम अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर नया आर्टिकल या पुराने आर्टिकल को ऑप्टिमिज़ करते समय कुछ चीजों का ध्यान देना बहुत जरुरी हैं.

जैसे – Title, content, keywords, heading, permalink, images, first and last paragraph, highlight text, internal & external links, Focus keyword और कुछ SEO techniques का सही तरीके से आपने आर्टिकल में इस्तेमाल करना होता है इसको ही हम सरल भाषा में On page SEO Optimization कहते है. 

अगर आप भी आपने आर्टिकल को गूगल में रैंक करना है तो आपने SEO मजबूत करे. अगर आप आपने SEO मजबुत करना चाहते हैं. तो हमारे साथ बने रहे में आपको पूरी जानकारी दुगा मेने आपको एक एक स्टेप को बहुत ही आसान भाषा में समझाया हैं.

On Page SEO करना क्यों जरुरी है?

आपने कभी किसी से ये जरूर सुना होगा की मेरी website/Blog गूगल में रैंक हो गयी है पर में आपको बता दू कभी भी वेबसाइट रैंक नहीं होती है वेबसाइट में हम जो आर्टिकल लिख के पब्लिश करते है वो रैंक होती है वो भी तब जब आपके दुवारा लिखे गए आर्टिकल का SEO Optimiztion अच्छे से हो रहा होगा किसी भी पोस्ट ओर पेज को गूगल में रैंक करने के लिए On-page SEO करना बहुत ही जरुरी है.

इससे सिर्फ आपके ब्लॉग पर टैफिक ही नहीं बाहड़ता है बल्की आपके वेबसाइट या ब्लॉग की authority भी बढ़ती है. authority को हम आसान भाषा में DA (Domain Authority) और PA (Page Authority) भी कहते है जिससे ब्लॉग की पॉपुलर्टी बढ़ती हैं.

मुझे लगता है की आपको अभी थोड़ा कुछ समझ में आ गया होगा की On page SEO optimization kya hai. अब में आपको 16 ऐसे तरीके बताऊगा. अगर आप उनको आपने ब्लॉग में इस्तेमाल करते है तो आपको सारा ट्रैफिक गूगल से ही आएगा.

तो चलिए जानते है On page SEO optimization Karne ke 16 Tarike कौन कौन से है जो आपको काफी मदद करेंगे.

On page SEO optimization Karne ke 16 Tarike

अब में जो आपको Tips बताने जा रहा हु वो हम सभी के लिए बहुत ही Important है. अगर आपके ब्लॉग पर गूगल सर्च इंजन से ट्रैफिक नहीं आ रहा है. तो में आपको ये ही कहना चाहुगा की आपको जो Tips मेने बताई है उनको बहुत ही ध्यान से पढ़े और सभी को फॉलो करें. 

तो चलिए जानते है सभी टिप्स के बारे में Step – Step से –

On Page SEO Content Quality

सबसे पहली टिप्स है Content Quality, जब भी आप आपने ब्लॉग के लिए आर्टिकल लिखते है. तो आपके आर्टिकल की Quality अच्छी होनी चाहिए क्युकी जीतना Quality का आपका Content होगा. तभी गूगल आपके ब्लॉग पोस्ट को पसंद करेगा और आपके पोस्ट को रैंक करने में आपकी हेल्प करेगा और जिसे आपके ब्लॉग पर अच्छा ट्रैफिक आने लगेगा.

आपको कभी भी ऐसे टॉपिक पे अपना आर्टिकल नहीं लिखना है जिस पर हद से ज़्यदा कॉम्पिटशन है. क्युकी ऐसे टॉपिक को गूगल में रैंक करना बहुत ही ज़्यदा मुश्किल है. अगर आप ऐसे टॉपिक पर आपने content लिख कर आपने ब्लॉग में पब्लिश करते है. तो ऐसे में ब्लॉग पर कुछ भी ट्रैफिक नहीं आएगा क्युकी जिन वेबसाइट को आप बिट करना चाहते है उनका DA और PA काफी ज़्यदा होगा ऐसे में उनको बिट कर पाना बहुत ही मुश्किल है.

ये बात आपके लिए जानना बहुत जरुरी है अगर आप हाई कॉम्पिटशन वाले कीवर्ड पर काम कर रहे है. तो ऐसे में गूगल सर्च इंजन आपके दुवारा लिखे गए आर्टिकल पर इतना फोकस नहीं करेगा. जिस कारण से आपकी पोस्ट गूगल में रैंक करने में काफी ज़्यदा समय लगेगा.

अगर आप किसे Low कॉम्पिटशन कीवर्ड पर आपने ब्लॉग का आर्टिकल लिखते है और आपके आर्टिकल की Quality अच्छी है. तो आप आसानी से अपनी पोस्ट को सर्च इंजन में रैंक करा सकते हो सिर्फ आपको ध्यान रखना है की Content Quality बढ़िया होनी चाहिए कही से Copy Paste नहीं करना हैं.

ऐसा करने से आपको जो बेनिफिट होगा वो ये है की इससे आपके ब्लॉग पर आर्गेनिक ट्रैफिक आएगा और आपके ब्लॉग की Authority भी बढ़ेगी. जितना अच्छा आपका Content होगा उतना ही पसंद आपके रीडर्स को आएगा और आपके रीडर्स आपकी नयी पोस्ट को इंतज़ार करेंगे.

On-Page SEO Post Title

On-page SEO kya hai के सबसे important factor में से एक Post Title होता है. Post Title लिखते समय आपको आपने mean keyword को Post Title के शुरू में लिखना होता है. मतलब की जब आप आपने आर्टिकल का Title लिखेंगे तो title की शुरुआत आपने कीवर्ड से करनी होती हैं जिसे आप रैंक कराना चाहते हैं.

आप लोगो के मन में एक प्रसन्न जरूर आ रहा होगा की एक SEO Friendly पोस्ट टाइटल कैसे लिखें. और आपने Post Title में keyword का इस्तेमाल किस प्रकार से करे जिसे की पोस्ट सर्च इंजन में शो होने लगे. ये सब करने के लिए में आपको कुछ tips दुगा जिनको अगर आप फॉलो करके आपने Post title को पूरा SEO friendly बना सकते हो.

  1. Targeting Keywords :- Post Title में आपको सिर्फ Targeting Keyword को ध्यान में रकते हुए ही title बनाना है. और आपको कोशिश करनी है की Targeting Keyword को आप title के शुरू में ही लिखे.

में जानता हु काफी बार ऐसा नहीं हो पायेगा की हम आपने Title की शुरुआत आपने mean Keyword से करे. लेकिन फिर ये कोशिश करे की कीवर्ड टाइटल के बीच में तो आ हि जाये लेकिन पोस्ट टाइटल के लास्ट में नहीं होना चाहिए. 

मेने यहाँ पे बताया है की आप आपने टाइटल किस प्रकार लिख सकते हैं.

On Page SEO kya hai aur aapne Blog post ko SEO friendly kaise banaye - Perfect Title

Blog ka On Page SEO kaise kare aur aise SEO friendly kaise banaye - Good Title 

Blog ko Fast page par lane ke liye On page seo kaise kare - Very Bad Title

मुझे लगता है की अब आपकी समझ में आ गया होगा की पोस्ट टाइटल में कीवर्ड को किसे लिखते हैं.

  1. Avoid Repeated Keywords :- टाइटल में कीवर्ड को सिर्फ एक बार इस्तेमाल करना है हमें एक से ज़्यदा बार कीवर्ड को टाइटल में इस्तेमाल नहीं करना है. अगर आप एक से ज़्यदा बार कीवर्ड को यूज़ करते है पोस्ट टाइटल में तो ये Repeated Keyword होता है और Google सर्च इंजन भी इसको Avoid करता है. 

Expl : – माना इस पोस्ट में मेरा mean keyword है SEO kya hai तो हम इसका टाइटल किस प्रकार लिखे गए वो देखते हैं.

SEO Kya hai aur SEO kaise karte hai” ये तरीका बिलकुल गलत है. अगर आप देखो गे तो इसमें दो बार कीवर्ड को इस्तेमाल किया गया है जबकि हमें दो बार कीवर्ड यूज़ नहीं करना है. 

On page SEO Kya hai aur ise blog ko kaise Optimize kare” ये तरीका बिलकुल सही है. अगर आप देखो गे तो इसमें एक बार ही कीवर्ड को इस्तेमाल किया गया है.

  1. Fomous Words :- पोस्ट टाइटल लिखते समय आप Fomous Word को इस्तेमला करें. अब आप पुछो गे की ये Fomous Words क्या होते है तो में आपको बताता हु Fomous Words कौन कौन से होते है. 

“Top, Best, Important, Most, Helpful, Review, Full Guide and other” ये सब fomous words ही होते है इनको आप आपने पोस्ट टाइटल में इस्तेमाल कर सकते है.

  1. Optimize Post Title Length :- पोस्ट टाइटल की Length इस प्रकार लिखनी है जिसे की वो सर्च इंजन में पूरा show हो सके पोस्ट टाइटल में आप 65 word तक इस्तेमाल कर सकते हो. अगर आप 65 word से ज़्यदा का टाइटल लिखेंगे तो वह गूगल में show नहीं होगा.
  2. Add 0-9 Numeric :- आपने टाइटल में नंबर का इस्तेमाल करे. क्युकी विज़िटर उस पोस्ट पर ज़्यदा क्लिक करते है जहाँ पर 5, 10, 15 या और tips and tricks लिखा हो.

For Example:-

  • Top 10 effective methods for SEO
  • 5 Best Plugins for WordPress
  • 10 SEO Tips and Tricks.

Blog Post Permalink

Blog Post Permalink ठीक उसी प्रकार से आपकी मदद करता है सर्च इंजन में जिस प्रकार से Post Title करता है. Permalink को आपको खुद से ही SEO फ्रेंडली बनाना होगा Permalink में आप आपने टाइटल में जो keyword इस्तेमाल किया हुआ है. उसी mean keyword ओर targeting keyword को आप आपने Permalink में इस्तेमाल करेंगे. 

Permalink बनाने के लिए में आपको कुछ तरीके बताऊगा जिनको आप फॉलो करके एक seo फ्रेंडली Permalink बना सकते हो.

  1. Don’t Use Extra Words Permalink :- Permalink बनाते समय आपको इसमें कोई भी extra words को इस्तेमाल नहीं करना है. सिर्फ आप Permalink में mean keyword का ही इस्तेमाल करे तो better है. Permalink में से आप symbols, brackets, comma’s आदि यूज़ नहीं करना है अगर ऐसा कुछ है तो आप उनको remove कर देना है.

For Example:-  

“technoavii.xyz/One-page-SEO-kya-hai-top-10-tips-and-Triks-puri-jankari”

आपको इस प्रकार का Permalink इस्तेमाल नहीं करना है. आपने ब्लॉग पोस्ट में क्युकी ये बिलकुल गलत तरीका है.

  1. Short Permalink :- Permalink को आप जितना Short रखो गए उतना ही अच्छा है. किसे भी आर्टिकल को रैंक करने के लिए Short Permalink में सिर्फ आपको mean keyword ही होगा.

Permalink को Short रखे और इसमें mean / Focus Keywords का इस्तेमाल करे.

For Example:-

“technoavii.xyz/One-page-SEO-kya-hai-top-10-tips-and-Triks-puri-jankari-...................” ये तरीका बिलकुल गलत है.

“technoavii.xyz/One-page-SEO-kya-hai”  ये तरीका बिलकुल सही है. Perfect Link

  1. Never Use Stop Words:- आपको कभी भी आपने Permalink में stop keyword का इस्तेमाल नहीं करना है. Stoping वर्ड जैसे “a”, “the”, “on”, “and” इस प्रकार के वर्ड को Stop word कहते है.

  1. Add Main Keywords:- Permalink में आपको आपने mean keyword को जरूर इस्तमाल करना है. अगर आप आपने कीवर्ड को इस्तमाल Permalink में नहीं करो गए तो सायद ही आपकी पोस्ट रैंक हो पायेगी इसलिए mean keyword को Permalink में जरूर इस्तमाल करे.

जितना हो पाए उतना अच्छा आपको आपने parmalink बनाना है. जो की Post title और आपके Post कंटेंट के रिलेटेड ही हो उसे अलग नहीं होना चाहिए. आपको एक बात जरूर याद रखनी है कभी भी आप पोस्ट लिखने के बाद आपने parmalink को default मत छोड़ना उसको चेंज जरूर करना है. चाहये आप Blogger या WordPress यूज़ कर रहे हो.

On-Page Seo Post Meta Description

सर्च इंजन में Post title और Post Permalink के बाद सबसे important factors माना गया है. अगर आप Meta Tag को सही तरीके से लिखना सिख गए. तो आपकी पोस्ट गूगल में फ़ास्ट पेज पर रैंक करेगी. क्युकी meta tags और meta keyword ही किस ब्लॉग पोस्ट को रैंक करने में काफी मदद करते हैं. 

आप Meta tag description में अब 160 characters में अपनी पोस्ट की कुछ (Post Summary) लिखनी होती है. यहाँ पे में आपको एक सलहा दुगा की meta tag description लिखते समय आप आपने कीवर्ड को एक या दो बार इस्तेमाल करके ही एक Meta description बनाये. 

Meta description में आप जो कीवर्ड इस्तेमाल करेंगे वो user friendly होना बहुत जरुरी है. user friendly का मतलब है की जो कीवर्ड आपकी पोस्ट से रिलेटेड user गूगल में ज़्यदा सर्च करते है. जितने भी सर्च इंजिन्स है सभी Meta description पे बहुत ही focus करते है. 

आप Meta description को सही प्रकार से इस्तेमला करने से आपकी ब्लॉग की सर्च इंजन में अच्छी ranking होगी.

Image Optimize SEO

Image Optimize बहुत ही जरुरी है SEO के लिए आपको अपने पोस्ट के लिए attractive Image बनानी है. जो विज़िटर्स को अपनी ओर attract करे इमेज की साहयता से आप अपनी कंटेंट को बिना लिखे ही बता सकते है. इस प्रकार की image को देखते ही विज़िटर्स समझ जाते है की जो उनको जानकारी चाहिए वो आप सही से देंगे.

Images भी आपकी पोस्ट को SEO Friendly बनाने में एक अहम रोल अदा करती हैं On page SEO in hindi करते समय Image Optimize करना बहुत ही जरुरी हैं.

एक Image को डिज़ाइन करते समय आपको कुछ फैक्टर्स को ध्यान में रख के ही एक Image को डिज़ाइन करना होता हैं. जो में आपको Image Optimize की टिप्स देने जा रहा हु. अगर आप उनको फॉलो करो गए तो आपकी Image Optimize 100% हो जायगी और Image यूजर फ्रेंडली होगी.

  1. Image Title :- आर्टिकल में इस्तेमला होने वाली Image में आपको आपने mean Keyword को इस्तेमाल करना है. इससे ये फायदा होगा की Search Engine में आपकी पोस्ट के साथ साथ उस कीवर्ड पर आपकी Image भी रैंक होगी. और जब भी कोई उस image पर क्लिक करेगा तो वह आपके ब्लॉग पर विजिट करेगा ओर इससे आपको ज़्यदा ट्रैफिक आएगा.

अब में आपको बताउगा की आपको आपने इमेज का टाइटल किस प्रकार से सेट करना हैं.

For Example :- 

1234abc.jpg – Wrong Title 

इस प्रकार का आपकी पोस्ट का टाइटल नहीं होना चाहिए इसे आपका SEO सही नहीं होगा और आपकी ये Image Search Engine में रैंक भी नहीं करेगी.

On-Page-SEO-kya-hai.jpg – Perfect Title

जिस तरह से मेने ये टाइटल लिखा हुआ है उसी प्रकार से आपको अपनी Image में Title को ऐड करना है. वो भी आपने mean keyword को ही लिखना है इससे आपकी image गूगल में जल्दी रैंक करेगी.

  1. Alt Tag :- Alt Tag लिखना भी बहुत जरुरी है इससे आपको SEO में काफी मदद मिलेंगे ओर Alt Tag में आपको अपनी Foucs keyword को ध्यान में रख के ही लिखना है. मतलब की Alt Tag में आपको Foucs keyword का ही इस्तेमाल करना हैं.

  1. Image Size :- Image Optimize में Image Size एक बहुत इम्पोर्टेन्ट फैक्टर माना गया हैं. जितना कम आपकी Image का Size होगा उतनी जल्दी आपकी पोस्ट लोड होगी और इसे आपकी ब्लॉग की स्पीड में भी कोई प्रॉब्लम नहीं होगी.

  1. Featured Image :- जैसे यूट्यूब में हम वीडियो की शुरुआत में Thumbnail का इस्तेमाल करते है. उसी प्रकार से ब्लॉग में पोस्ट लिखते समय हम Featured Image का इस्तेमाल करते है. ये हम आपने रीडर्स को यूजर फ्रेंड्ली एक्सपीरियन्स देने के लिए करते है ओर इसका असर आपके SEO पर भी देखने को मिलता हैं. 

कुछ बाते आपको याद रखनी बहुत जरुरी है आपको कही से भी Image को copy कर के आपने ब्लॉग पोस्ट में यूज़ नहीं करना है. नहीं तो आपकी उस ब्लॉग पोस्ट पर कॉपीराइट आ सकता है आपको सिर्फ खुद से अपनी पोस्ट के लिए image बनानी हैं और उसको SIZE कम से कम रखना हैं.

Use Keywords

किसे भी सर्च इंजन से ट्रैफिक लेने के लिए सही keyword को यूज़ करना बहुत जरुरी होता हैं. जब अभी कोई सर्च इंजन में कोई keyword डालता है और आपने उसे keyword पर काम किया हुआ है तब वहाँ पर आपकी पोस्ट शो होगी.

इसकी लिए आपको एक अच्छा कीवर्ड सर्च करना होगा जिसपर Low कॉम्पिटिओं हो. और उस कीवर्ड पर ज़्यदा ट्रैफिक हो कीवर्ड को सर्च करने के लिए आप Ahrefs Tool का इस्तेमाल कर सकते है. मेने Ahrefs tools क्या है और इसको हम कम Price में कहा से Buy कर सकते है उसपर पूरी जानकारी दी हुयी है इसको आप जरूर रीड कर..

एक पोस्ट में कीवर्ड को 2.5% to 3% से जयदा बार इस्तेमाल नहीं करना चाहिए में आपको बताता हु कैसे करना है. माना आपने एक आर्टिकल लिखा जो 1200 word का है तो इसमें आप सिर्फ आपने mean keyword को 10 से 15 ही इस्तेमाल करना होता है उसी जयदा नहीं करना होता हैं.

जहा तक मुझे पता है की हम अपनी पोस्ट लिखते समय सिर्फ शुरू के paragraph और आख़िर के paragraph में ही सबसे ज़्यदा keyword को इस्तेमाल करना चाहिए. लेकिन कीवर्ड को भी हमें इमेज की तरह इस्तेमाल करना है जिसकी हमे जरूरत है बस उसको ही उसे करना होता हैं.

सर्च इंजन में अपनी पोस्ट को रैंक करने के लिए आपको जयदा से जयदा कीवर्ड का इस्तेमाल करना है. लेकिन इसके लिए आपके Article की Length जयदा होनी चाहिए तभी आप ज़्यदा keyword को इस्तेमाल कर सकते है.

अगर आप का article की Length सिर्फ 1000 word की है. तो इसमें आप सिर्फ 2.5% to 3% तक कीवर्ड को यूज़ कर सकते है उससे ज़्यदा नहीं कर सकते हैं.

Sitemap

मुझे लगता है की Sitemap के बारे में आप सब जानते होंगे की Sitemap क्या है अगर आप लोग नहीं जानते है. तो में आपको बता देता हु Sitemap हमारे ब्लॉग की पोस्ट के लिंक का डाट रक्ता हैं. जैसे की आपने आपने ब्लॉग में कौन से पोस्ट कब पब्लिश की है किस टाइम की और किस टॉपिक पर हमने आपने पोस्ट बनाया है.

Sitemap की मदद से ही गूगल आपकी पोस्ट को सर्च इंजन में जल्दी से इंडेक्स करता हैं. अगर आपने अभी तक आपने ब्लॉग का Sitemap नहीं बनाया है. तो पहले उसको बना लो और वेबमास्टर में Submit करा दो इससे आपको काफ़ी Help मिलेगी.

On Page SEO Heading – Subheading

Article लिखते समय Heading and Sub-heading का खास ख्याल रखना होता हैं. जो की On Page SEO kya hai के लिए सबसे इम्पोर्टेन्ट है और सर्च इंजन भी आपके कीवर्ड को Heading से ही पहचानता हैं. 

Heading and Sub-heading इस प्रकार से होती है H2, H3, H4 or H5 ये सब Heading हैं. ये SEO के लिए बहुत जरुरी हैं पर आपको ऐसा भी नहीं करना है. की हर एक paragraph के बाद आप Heading का इस्तेमाल करो ऐसा नहीं करना हैं. 

में आपको कुछ Steps बताता हु की आप कैसे Heading and Sub-heading का इस्तेमाल कर सकते हैं. 

  1. Heading में H1 का इस्तेमाल एक बार ही होता हैं वो आपको नहीं करना होता है जो आप आपने Post का Title लिखते हैं वह H1 heading होती हैं.
  2. H2 Heading को लिखते हुवे आपको Heading की शुरुआत आपने फोकस कीवर्ड से करनी होती हैं जो की SEO के लिए बहुत effective होता हैं लिकेन आपको ये ध्यान रखना है की सभी Heading में फोकस कीवर्ड का इस्तेमाल नहीं करना हैं.
  3. अगर आप H2 और H3 को बार बार लिखो गए तो ये SEO के लिए एक Negative पॉइंट माना गया हैं. और इससे आपकी ब्लॉग रैंकिंग में काफी नुकसान होगा.

में आपको ये ही Suggest करुगा की आप बार बार Heading का इस्तेमाल न करे जो नये ब्लॉगर होते हैं. मतलब की जिन्होंने अभी अभी आपने ब्लॉग शुरू किया है. उनको इन सब चीजों के बारे में जयदा जानकारी नहीं होती हैं ओर वो ये गलती बार बार करते रहते हैं.

Internal Linking

अपनी नई ब्लॉग पोस्ट में पहले लिखी गयी पोस्ट के लिंक को add करना Internal Linking कहते हैं. ओर ऐसा करे के आप आपने ब्लॉग के ट्रैफिक को बड़ा सकते हो और आपने पुरानी पोस्ट को भी रैंक करा सकते हैं.

User engagement को बढ़ावा देने के लिए हम internal linking करते है internal linking से हम यूजर को बहुत से ऑप्शन एविलेबल करा देते है. अगर user SEO kya hai के बारे में जाने के लिए आया है.

तो हम वह पर SEO से रिलेटेड जैसे – On Page SEO kya hai और Off Page SEO आपने जो पोस्ट लिखे है उनके लिंक डाल सकते है जैसे यूजर को जयदा जानकारी आप दे सके.

External Linking

जिस प्रकार से Internal Link करना बहुत जरुरी है उसी प्रकार से External Linking करना भी बहुत जरुरी हैं. जब हम अपनी पोस्ट में किसे दूसरी website का लिंक add करते है उसको ही External Linking कहते है. 

माना आप ब्लॉग्गिंग क्या हैं इस पर अपनी पोस्ट लिख रहे है तो आपको ऐसे वेबसाइट को फाइंड करना है. External Linking के लिए जिसकी रैंकिंग हाई हों ऐसा करने से आप उस वेबसाइट को एक बैकलिंक दोगे. जिसे उस वेबसाइट को बेनिफिट तो होगा ही उसके साथ में आपकी वेबसाइट के रैंकिंग में भी परिवर्तन देखने को मिलेगा. 

Note : आपको कभी भी किसे गलत वेबसाइट को अपनी वेबसाइट के साथ लिंकिंग नहीं करना है. ना ही उससे लिंक लेना है और ना ही उसको अपनी वेबसाइट से लिंक देना है. गलत वेबसाइट वर्ड से आप समझ गए होंगे में किस तरह की साइट के बारे में बता रहा हूँ. 

अगर आप ऐसे साइट को लिंक देंगे तो आपकी रैंकिंग बिलकुल डाउन हो जायेगे मतलब की गूगल ऐसे वेबसाइट को एक्सेप्ट कभी नहीं करता हैं.

Optimize Website Speed 

गूगल किसे भी ब्लॉग की पोस्ट को रैंक करने से पहले उसकी Speed जरूर चेक करता है की आपकी वेबसाइट को पेज लोडिंग होने में कितना टाइम ले रहा है. और ये भी On Page Seo का एक इम्पोर्टेन्ट फैक्टर में से एक हैं.

अगर ऐसे में आपकी वेबसाइट की स्पीड काफ़ी स्लो होई तो गूगल आपकी वेबसाइट को कभी रैंकिंग में नहीं लाएगा और आपके किसी दूसरे की वेबसाइट जिसकी स्पीड अच्छी है. उसको आसानी से रैंकिंग कर देगा क्युकी वेबसाइट स्पीड काफ़ी मेटर करती है रैंकिंग में आने के लिए.

ऐसे में अपनी वेबसाइट की स्पीड बड़ाने के लिए आप किसे लाइट वेट थीम या टेम्प्लेट को इस्तेमाल करे जो जल्दी से लोडिंग हो जाये. और अपनी वेबसाइट के होम पेज पर कम से कम 8 पोस्ट ही रखे जिसे वेबसाइट के होम पेज को लोडिंग होने में कम समय लगेगा और आपकी वेबसाइट फ़ास्ट लोड होगी.

आपको ये बात याद रखनी हैं की आपकी वेबसाइट कम से कम 3 second में पूरी तरह से लोड हो जाएगी. अगर आपकी वेबसाइट इस टाइम से ज़्यदा समय लेती है लोड होने में तो ये एक परेशानी की बात है. आपकी लिए तो भी इसके लिए आप कोई अच्छी hosting को ही यूज़ करे.

Content Post   

में इस चीज को बिलकुल नहीं मानु गा की आप 200 – 300 वर्ड के आर्टिकल होने पर ये गूगल में रैंक हो जायेगा. ऐसा कभी भी नहीं हो पायेगा की 200 – 300 वर्ड का आर्टिकल गूगल फ़ास्ट पेज पर देखयेगा.

आपको आपने आर्टिकल को रैंक करने के लिए कम से कम 1000 वर्ड का आर्टिकल तो जरूर लिखना होगा अगर आपके पास कोई short पोस्ट है. तो वह कम से कम 700 वर्ड की तो होनी ही चाहिए. इसे कम की आप पोस्ट लिखो गे तो ना ही वह गूगल रैंक करेगा और ना उसपे आपको ट्रैफिक मिलेगा तो ऐसे पोस्ट को लिखने को कोई मतलब नहीं बनता हैं.

अगर आपके कंटेंट के लम्बाई जितनी ज़्यदा होगी तो आप उसमे उतनी ही ज़्यदा कीवर्ड्स की density को बड़ा सकते हैं. बस आपको इस बात को धयन रखना है की आपके कीवर्ड की Density 2.5% से ज़्यदा न हो लिकेन इसको इस्तेमाल करने के लिए आपको आपने कंटेंट की लम्बाई को बड़ाना होगा. तभी आपका कीवर्ड जयदा बार रिपीट होगा.

Website Mobile Friendly

आपकी वेबसाइट और ब्लॉग पूरी तरह से Mobile Friendly होना बहुत जरुरी है. की अब के समय में सभी मोबाइल का ही उसे करते है और सभी मोबाइल से ही जानकारी लेना पसंद करते है. 

अभी हल ही में गूगल ने भी Announcement किया है की वह सिर्फ mobile friendly वेबसाइट या ब्लॉग को ही गूगल में फर्स्ट पेज पर रैंक करेगा. इसलिए आपको भी आपने ब्लॉग को पूरी तरह से मोबाइल फ्रेंडली बनाना होगा तभी आपकी ब्लॉग पोस्ट गूगल के फर्स्ट पेज पर रैंक कर पायेगी.

Use Social Sharing Buttons

अगर हमारे कंटेंट की क्वालिटी एक बढ़िया है तो और वह हमारे रीडर को कंटेंट से अच्छी जानकारी मिली हो. तो वह एक कंटेंट को share करना चाहता है पर उनको sharing का कोई ऑप्शन नहीं मिलेगा. तो वह आपके कंटेंट को शेयर नहीं कर पाएंगे. 

अगर आप आपने ब्लॉग में social sharing का option अवेलेबल करते है. तो ऐसे आपके रीडर आपके कंटेंट को आपने सोशल मीडिया पर शेयर करेंगे जिसे आपको वहाँ से ट्रैफिक आएगा और आपके ब्लॉग का प्रमोशन भी होगा. 

आपके ब्लॉग पर जितना ट्रैफिक सोशल मीडिया से आएगा तो ये गूगल को एक पॉजिटिव सिग्नल देगा जिसे गूगल आपकी पोस्ट को रैंक करने में भी काफ़ी हेल्प करेगा. 

अगर आप वर्डप्रेस को यूज़ करते है तो आप किसे भी सोशल शेयरिंग plugins को इनस्टॉल कर के आपने ब्लॉग में सोशल शेयरिंग का button को enable कर सकते हैं.

अगर आप अपनी ब्लॉग पोस्ट में Text Content के साथ में Virtual Content का इस्तेमाल करते है. तो ये आपके लिए काफी मददगार साबित होगा Virtual Content से मेरा मतलब है. की आप जिस topic पर आपने कंटेंट लिख रहे हैं तो आपको उसी से रिलेटेड आपने पोस्ट में एक Video को लगाना चाहिए. 

इससे आपको काफी फायदा होगा जो आपको में नीचे बताया हु.

  1. Bounce Rate :- अगर आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पोस्ट में कोई वीडियो को add करते है. तो इससे आपका Bounce Rate काफी काम होगा और विज़िटर आपकी वेबसाइट पर ज़्यदा से ज़्यदा समय बिताएंगे. क्युकी उनको आपकी पोस्ट से text और video दोनों तरह से पूरी जानकारी मिलेगी. 

  1. Time On page :- जब भी कोई विज़िटर हमरे पोस्ट पर आता है और वह जितना टाइम हमरी पोस्ट पर रुकता है उसको Time on page कहते है.

जब भी आप आपने पोस्ट में कोई वीडियो को लिंक करे तो वह वीडियो आपके पोस्ट से रिलेटेड ही होनी चाहिए. और जो वीडियो आप लिंक करेंगे उसमे पूरी जानकारी होनी बहुत जरुरी है.

Regularly Update Your Old Posts

On Page SEO में सबसे जरुरी है की आप अपनी पुरानी ब्लॉग Post को Regularly Update करते रहना चाहिए.

जैसे मैने एक पोस्ट लिखी है जिसका title है SEO क्या है 2020 अगर में आपने इस पोस्ट के टाइटल को समय समय के साथ चेंज नहीं करुगा. तो ये सिर्फ 2020 तक ही सीमित रह जाएगा 2021 में इसपर कोई विज़िटर विजिट नहीं करेगा.

अगर में आपने पोस्ट के टाइटल को समय के साथ साथ चेंज कर दुगा तो उसकी वैल्यू और ज़्यदा हो जाएगी. जैसे में आपने इस टाइटल को 2021 में इस तरह से लिखू गा SEO क्या है 2021 अब मेने इसको बदल दिया है. अब यह गूगल में रैंक भी करेगा और इसपर विज़िटर भी क्लिक करके आना पसनद करेंगे.

On Page SEO kya hai Virtual Content in Hindi

 

On Page SEO Hindi Me 

आशा करता हु की आप इस पोस्ट को पहड़ने के बाद On Page SEO Kya Hai और On Page SEO Kaise Karte Hai ये अच्छी तरह से जान चुके होंगे. 

मेने इस पोस्ट में On Page SEO kya hai करने के सभी फैक्टर्स को कवर किया है अगर आप ये सब अपनी ब्लॉग पोस्ट पर फॉलो करोगे तो आपकी पोस्ट भी गूगल के फर्स्ट पेज पर रैंक होगी.

आप बिना एक अच्छे On Page Optimization के ब्लॉग पोस्ट कभी भी गूगल में रैंक नहीं कर पायेगी. अगर उसको On-page SEO सही से नहीं किया हुआ हैं.

इसलिए अगर आप इस पोस्ट को ध्यान से पहड़ो गए और समझो गे और बताये गए एक एक स्टेप को आप फॉलो करो गे. जिसे आपकी नॉलेज तो बड़े गी ही उसकी साथ में आप अपनी वेबसाइट को रैंक भी करा सकते हो. और आप एक फुल टाइम ब्लॉगर बनाना चाहते हो तो आपको On Page SEO kya hai में माहिर होना होगा तभी आप एक एक अच्छा ब्लॉगर बन पाओग.

तो दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट On Page SEO क्या है और On Page SEO in hindi पसन्द आयी है. तो कमेंट कर के मुझे जरूर बताये अगर आपके दिमाग में इससे रिलेटेड कोई भी question है. तो आप कमेंट की मदद से पूछ सकते है में आपके question का जरूर उत्तर दूगा.

हर एक ब्लॉग की कामयाबी एक ब्लॉगर के ऊपर निर्भर करती है क्युकी एक ब्लॉगर ही ब्लॉग में हाई Quailty का कंटेंट देता हैं.

मेरी आपसे एक ही request है आपको ये पोस्ट की जानकरी तो जरूर पसन्द आयी होगी. तो इसको आपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे नीचे आपको जो button देखिए दे रहे है. उनके साथ जरूर थोड़ा खेले और खेल खेल में इस पोस्ट को सभी सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे.

On Page SEO kya hai aur On page SEO in hindi
Avneesh Panwar
by Avneesh Panwar
"Hey, I’m Avneesh Panwar, A Full-Time Blogger and Founder of technoavii.xyz. A guy from the crowded streets of India who loves to eat, both food. In the world of pop and rap, I listen to Desi Song."

4 thoughts on “On Page SEO Kya Hai – और कैसे करे 2020”

Leave a Comment

0 Shares 192 views
Share via
Copy link